Book an Appointment
April 4, 2018 In Blog By Dr. Vikas Singhal

बेरिएट्रिक सर्जरी के साथ मोटापा और संबंधित स्वास्थ्य समस्याओं का इलाज

डायबिटीज और मोटापे से हर घर में कोई न कोई पीड़ित है.  जब वजन बहुत ज़्यादा बढ़ जाता है तो उसे ओबेसिटी कहा जाता है.  यह आगे चल के कई बीमारियों को बढ़ाता है और अपने आप में ही एक बिमारी माना जाता है.  मोटापे से होने वाली बीमारियां जैसे कि डायबिटीज, उच्च रक्तचाप, दिल का दौरा, स्ट्रोक, कोलेस्ट्रॉल, आर्थराइटिस अथवा जोड़ों का दर्द, इत्यादि का शरीर पे गंभीर प्रभाव पड़ता है.  यह बीमारियां जो कि पहले पश्चिमी देशों में ज़्यादा देखी जाती थी अब भारत में हर घर में है क्योंकि हमारे खाने में भी फ़ास्ट फ़ूड बहुत बढ़ गया है तथा व्यस्त जीवन के साथ लोग अपने खान पान और रोज़ाना व्यायाम पर ध्यान नहीं देते हैं.  रहन सहन में फरक के इलावा भी और कई कारण है वजन बढ़ने के और उन कारणों पर नियंत्रण रखना हमेशा अपने हाथ में नहीं होता है.  अक्सर अपने वजन को कंट्रोल में रखना लोगों के लिए एक आजीवन संघर्ष बना रहता है.  लोग कई बार अलग अलग डाइट, स्लिमिंग सेंटर्स, स्पोर्ट्स क्लब या जिम वगैरह में जा के कुछ समय के लिए कुछ हद तक वजन घटाते हैं और फिर कुछ समय में फिर वह सारा वजन वापिस आ जाता है और कई बार और भी बढ़ जाता है.  इस हालत में, वजन को जल्दी और असरदार तरीके से लम्बे समय तक घटाए रखने में बरिएट्रिक सर्जरी अथवा वेट लोस्स सर्जरी काफी फायदेमंद हो सकती है.

दो सबसे जादा अधिक होने वाली बरिएट्रिक सर्जरी हैं – गैस्ट्रिक बाईपास और स्लीव गॅस्ट्रेक्टोमी.  यह दोनों सर्जरी दूरबीन विधि द्वारा कि जाती हैं जैसे के अब पित्त कि थैली की सर्जरी होती है.  गैस्ट्रिक बाईपास में पेट को काट कर छोटा कर दिया जाता है जिससे कि भूख काम लगती है और जो खाते हैं वह शरीर को लगता नहीं है.  इस सर्जरी से शरीर में कुछ केमिकल बदलाव भी आते हैं जिससे कि सर्जरी के तुरंत बाद ही शरीर में इन्सुलिन और डायबिटीज कि दवाईयों की ज़रुरत बहुत कम या खत्म हो जाती है.  डायबिटीज का यही एक इलाज है जो उसे जड़ से खत्म कर सकता है.  और कोई दवाइयाँ या घरेलु नुस्खे डायबिटीज को हमेशा के लिए खत्म नहीं कर सकते.  इस सर्जरी के बाद ७०% मरीज़ों की डायबिटीज जड़ से खत्म हो जाती है.

स्लीव गॅस्ट्रेक्टोमी भी एक काफी असरदार सर्जरी है जिससे कि ७०% अत्यधिक वजन तक घटाया जा सकता है.  इस सर्जरी में भी पेट काट कर छोटा कर दिया जाता है.  इससे पेट में बनने वाला हॉर्मोन – ‘घरेलिन’ जो हमारी भूख बढ़ाता है, उसकी मात्रा कम हो जाती है, इस वजह से और पेट छोटा होने कि वजह से लोगों का वजन असरदार तरीके से घटता है.

अब रिसर्च से यह भी पता चल गया है कि बरिएट्रिक सर्जरी से वजन घटने के बाद शरीर में स्फूर्ति आती है, ओबेसिटी से जुडी अन्य बिमारियों का खतरा घटता है, डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्तचाप, स्लीप एपनिया का असरदार इलाज होता है और आयु भी बढ़ती है.

Make an Appointment

Send your request and let one of our experts care about it.

No Comments

Your email address will not be published.